एग फ्रीजिंग : इनफर्टिलिटी में रामबाण

egg freezing

एग फ्रीजिंग शायद कुछ लोगों के लिए नया नाम हो, लेकिन जिस तरह लड़कियां आज लड़कों के साथ कंधे से कंधा मिला कर हर क्षेत्र में चल रही हैं उनके लिए यह शब्द नया नहीं है।  यह तरीका इनफर्टिलिटी कि समस्या से जूझ रहीं औरतों के लिए भी एक अच्छा विकल्प है। एग फ्रीजिंग प्रोफेशनल लड़कियों के लिए बहुत ही सुरक्षित और कारगर तरीका है। इस तरह कोई भी लड़की जो भविष्य में माँ बनना चाहती है वह अपने एग को फ्रीज़ करवा लेती हैं और समय आने पर उसका इस्तेमाल कर सकती हैं। ख़ासकर क्यों करते है एग फ्रीजिंग वो लड़कियां जो बड़ी उम्र में माँ बनना चाहती हैं या कैंसर से पीड़ित हैं वो बड़ी आसानी से अपने एग को फ्रीज़ करवा सकती हैं इससे पहले कि उनके माँ बनने की सारी संभावनाएं ख़त्म हो जाये.

एग फ्रीजिंग कई मामलों में महिलाओं के लिए मददगार साबित होता है. ख़ासकर उन महिलाओं के लिए जो कैंसर जैसी बीमारी से जूझ रही हैं या फिर किसी एक्सीडेंट की वजह से वो माँ बनने में परेशानियों को सामना कर रही हैं. ऐसी औरतें एग्स को भविष्य के लिए सुरक्षित रख कर मातृत्व का सुख पा सकती हैं. ऐसे जोड़ों के लिए भी एग फ्रीजिंग वरदान है जो IVF ट्रीटमेंट ले रहे हैं. उम्र के साथ मिसकैरिज और दूसरे परेशानियाँ होने की संभावना बढ़ जाती है लेकिन एग फ्रीजिंग से आप जब चाहे मातृत्व का भरपूर सुख पा सकते हैं।

क्या है एग फ्रीजिंग

एग फ्रीजिंग आजकल की करियर ओरिएंटेड औरतों के लिए इन्श्योरेन्स पालिसी जैसी ही हैं जो भविष्य में जाकर फल देती है। एग फ्रीजिंग में महिलाओं के हेल्थी एग (अंडाणु) को ओवरी से निकाल कर फ्रीज़ कर दिया जाता है और उसे भविष्य के लिए   सुरक्षित कर दिया जाता है। परिपक्वता के आधार पर अच्छे अंडाणुओं को छांटकर लिक्विड नाइट्रोजन में रख दिया जाता है, जो कि माइनस 196 सेंटीग्रेट (-320 फारेनहाइट) पर जमता है।  ऐसा माना जाता है कि 40 की उम्र तक आते-आते महिलाओं के गर्भधारण का समय समाप्त हो जाता है। जबकि आजकल देर से ही गर्भधारण करने का ही चलन हो गया है।

क्या है चुनौती कामकाजी महिलाओं के लिए

अब इस बात से इंकार नहीं किया जा सकता कि एक लड़की चाहे कितनी पढ़ी-लिखी और करियर ओरिएंटेड क्यों न हो लेकिन उसकी शादी की चिंता उससे ज्यादा उसके आस-पास के लोगों को होती है। क्योंकि उनको लगता है कि जितनी देर से होगी शादी उतनी ही माँ बनने के चांसेस कम होते जाते हैं। लेकिन एग फ्रीजिंग द्वारा अपने एग को स्टोर करा सामाजिक दबाव और बाकी प्रेशर से बचा जा सकता है। इसीलिए तो दुनिया भर में फर्टिलिटी सेंटर एग फ्रीजिंग को पूरी तरह से खुल कर प्रोमोट कर रहे हैं। इसका ही असर है कि पहले जहाँ औरतें 25 से 30 की उम्र में माँ बन जाती थी आज 30 के बाद भी माँ बन पा रही हैं। माँ बनने की उम्र में एग फ्रीजिंग के कारण निश्चित रूप से बदलाव आ रहा है।

तो अब शायद आज हर औरत सुकून की सांस ले पा रही होगी और खुद में पहले से ज़्यादा आत्मविश्वास महसूस कर रही होगी। भई, करे भी क्यूँ न! एग फ्रीजिंग उनके लिए किसी रामबाण से कम नहीं है। अब मंज़िल की ओर बढ़ने में उन्हें किसी भी तरह की बाधा के सामना करने की कोई ज़रूरत नहीं।

Tags:

Comments

comments

0 Comments

Leave a reply

Your email address will not be published.

©2017 Infertility Dost  Medical Disclaimer

Log in with your credentials

or    

Forgot your details?

Create Account